My Hindi Love Shayari, Thi Ek Hasina

my hindi love shayari beautiful girl

थी एक हसीना जिसकी पूजा करते थे,
थी एक दिलरुबा जिसे हम चाहते थे,
थी एक जान जिस पर हम मरते थे,
थी एक मेहबूबा जिससे हम वफ़ा करते थे।

पर हमारी वफ़ा को वो समझ न सकीय,
हमारी मोहब्बत को वो अपना न सकीय,
ना जाने क्यों वो हमसे वफ़ा कर न सकी,
ना जाने क्या कमी थी हमारे प्यार में जो वो हमारी हो ना सकी।

दिल और जान से मोहब्बत करते थे उससे,
खुद से ज्यादा प्यार करते थे उससे।
न जाने क्यों उसने मेरा दिल तोड़ दिया,
न जाने क्यों उसने हमें यूँ अकेला छोड़ दिया।

अब तो बस हर पल उसे याद करते हैं,
वो हमारी बनेगी कभी इसी उम्मीद में जीते है मरते हैं,
वो चाहे हमसे प्यार करें तो करें हम तो उसी को चाहते हैं।